Showing posts with label लड़ाई झगड़ा दरखास्त हिन्दी मे. Show all posts
Showing posts with label लड़ाई झगड़ा दरखास्त हिन्दी मे. Show all posts

11 May 2021

पुलिस थाना के लिए लड़ाई झगड़ा मारपीट की दरखास्त कैसे लिखे

सेवा मे,

              श्रीमान एस0 एच0 ओ0 साहब

थाना ________ | 

विषय :- दरखास्त बराये किए जाने कानूनी कार्यवाही बाबत अवैध हथियारो के बल पर रास्ते मे घेरकर व घर मे घुसकर मारपीट करने व लूटपाट करने व घर मे तोड़फोड़ करने व जान से मारने की धमकी देने बारे 

 श्रीमान जी,

              मैं प्रार्थी (शिकायतकर्ता अपना नाम व पता लिखे) का रहने वाला हूँ तथा दिनांक को मैं घर जा रहा था और जैसे ही मैं दोषी ___________के घर के पास गली/रास्ते मे पहुंचा तो वहाँ पर पहले से ही हममशवरा होकर बैठे दोषीगण (सभी दोषीगण का नाम व पता लिखे) अपने-2 हाथो मे अवैध हथियार लाठी-डंडाफरसारोडकट्टाहॉकी आदि हथियारो से लैश होकर मुझ प्रार्थी पर अचानक टूट पड़े और मुझे घेर लिया और दोषीगणों ने मुझे पकड़ लिया | मैंने दोषीगणों से छूटने की कोशिश की तो दोषीगणों ने मेरे 11,200/- रुपए छीन लिए और छीनाझपटी मे दोषीगणों ने मेरी पहनी हुई जेकेट को भी छीन लिया | शोर सुनकर मेरा भाई _______________और गाँव के काफी लोग आ गए और दोषीगणों के चंगुल से छूटकर मैं घर भाग गया तो सारे दोषीगणों मुझे ललकारते हुये और गाली देते हुये मेरे पीछे-2 आ गए और मुझे और मेरी पत्नी व मेरी भाभी को घर मे घुसकर मारापीटा | जो दोषी ___________ने अपने हाथ मे ली हुई लोहे की रोड मेरे कंधे पर मारी तथा दोषी ___________ने अपने हाथ मे ली हुई लाठी मेरी पत्नी _________की कमर मे मारी तथा दोषी _________________ ने हाथ मे लिए हुये डंडा से मेरी पत्नी के सिर मे पीछे की तरफ मारा तथा दोषी __________ने अपने हाथ मे लिए हुये कट्टे की बट की होद मेरे भाई की पत्नी _____________के सीधी आँख के नीचे मारी तथा दोषी ____________ने अपने हाथ मे लिया हुआ फरसा उल्टी तरफ से ___________की कमर मे मारा | दोषीगण ________________________ने भी हमे लात घुसोगिड़-पत्थरो से मारा पीटा तथा सभी दोषीगणों ने हमारे घर के बर्तन  व लाइट के बल्ब व दरवाजो मे भी तोड़फोड़ की | बड़ी मुश्किल से हमे _______________व अन्य गाँव के लोगो ने दोषीगणों से बचाया | दोषीगण जाते-2 कह रहे थे कि अब तो तुम्हें बचा लिया है आइंदा मौका मिला तो तुम्हें जान से मार देंगे अब तक मैं अपनी चोटों का इलाज करा रहा था अब दरखास्त देने आया हूँ |

       इसलिए जनाब से निवेदन है कि दोषीगण के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके कानूनी कार्यवाही की जाये | आपकी मेहरबानी होगी |


     प्रार्थी
शिकायतकर्ता का नाम व पता व मोबाइल न0